sharab theka licence kaise le : यूपी में शराब ठेके का लाइसेंस कैसे बनवाये

अगर आप up में  Sharab theka licence kaise le जानना  चाहते हैं ! तो www.upeia.org इस पर क्लिक करे !  इसके लिए सरकार द्वारा ही ठेकों का वितरण किया जाता है ! वैसे तो शराब ठेकों का लाइसेंस देने का कार्य आबकारी विभाग का होता है ! राज्य में आबकारी विभाग द्वारा शराब ठेकों को दो श्रेणियों में विभाजित किया गया है ! और आप बिना आबकारी विभाग के शराब ठेका नहीं प्राप्त कर सकते हैं ! इसे प्राप्त करने के लिए बाकायदा एक प्रोसेस का प्रावधान किया गया है ! दो प्रकार के ठेके इस प्रकार है

sharab theka licence kaise le : ऑन साइट लाइसेंस

ऑन साइट लाइसेंस की बात करें तो ! तो ऑनसाइट लाइसेंस आबकारी विभाग द्वारा ही प्रदान किया जाता है ! यह लाइसेंस जैसे कि रेस्टोरेंट, बार, होटल आदि चलाने वाले लोगों को प्रदान किया जाता है ! इसकी एक शर्त भी होती है ! ऑन साइट लाइसेंस प्राप्त करने वाले लोगों के लिए शराब बेचने और पिलाने की अनुमति अपने परिसर के अंदर ही होती है !

ऑफ साइट लाइसेंस

ऑफ  साइट लाइसेंस की बात करें ! तो यह लाइसेंस भी आबकारी विभाग द्वारा ही प्रदान किया जाता है ! लेकिन यह लाइसेंस अधिकतर ठेकों के रूप में वितरण किया जाता है ! इसे प्राप्त करने के लिए एक टेंडर निकाला जाता है! उस टेंडर के माध्यम से उम्मीदवार को यह लाइसेंस प्रदान किया जाता है ! Sharab theka licence kaise le इसका उत्तर आप को मिल गया होगा ! ऑफ साइट लाइसेंस मैं यह निर्धारित नहीं होता है कि आप अपने परिसर में ही पिलाने और बेचने की अनुमति नहीं होती है !

भारत में एक व्यक्ति कितनी शराब रख सकता है

 वैसे तो भारत में शराब के पूरे कारोबार की देखरेख आबकारी विभाग के अंतर्गत आती है ! आबकारी विभाग के माध्यम से ही भारत के किसी भी राज्य में ठेकों  का लाइसेंस वितरित किया जाता है ! भारत में शराब की बात करें ! तो एक व्यक्ति को  विदेशी शराब रखने की सीमा 9 लीटर निर्धारित की गई है और भारतीय शराब रखने की सीमा 18 लीटर निर्धारित है ! इसका निर्धारण भी आबकारी विभाग के द्वारा समय-समय पर किया जाता रहता है !

 किस राज्य में सबसे सस्ती दारू मिलती है

 सबसे सस्ती दारू की बात करें ! तो यह दारू गोवा राज्य में मिलती है ! गोवा राज्य भारत का एक पर्यटक राज्य है ! गोवा पुर्तगालियों का उपनिवेश रहा है !  राज्य में सबसे सस्ती दारू मिलती है यहां पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सभी प्रकार की शराब आसानी से मिल जाती हैं !

नई शराब नीति क्या है

नई शराब नीति की बात करें तो नई शराब निति नवंबर 2021 में लागू की गई थी ! यह नीति भारत की राजधानी दिल्ली में लागू की गई ! इस नीति के अनुसार 100% परसेंट शराब ठेकों को प्राइवेट हाथों में देने की सिफारिश की गई ! पहले की बात करें तो 40% परसेंट ठेका  को ही प्राइवेट हाथों में देने की अनुमति थी ! 60 % परसेंट ठेकों को सरकारी रूप से दिया जाता था ! इस नीति से यह बदलाव देखने को मिलता है !

शराब का ठेका कैसे लें 

शराब का ठेका कैसे लें इसे लेने के लिए आबकारी विभाग द्वारा एक टेंडर निकाला जाता है ! उस टेंडर के हिसाब से ही जिन लोगों ने आवेदन किया हुआ होता है ! Sharab theka licence kaise le उनको आबकारी विभाग अपने अनुसार शराब के ठेके देने का कार्य  करता है ! शराब का ठेका प्राप्त करने के लिए हर राज्य का अपना अपना एक रोल होता है ! मगर इसका संचालन आबकारी विभाग द्वारा ही किया जाता है ! इसे लेने की विधि इस प्रकार है

  1.  आबकारी विभाग द्वारा इसके वितरण के लिए एक टेंडर प्रणाली के माध्यम से एक टेंडर निकाला जाता है
  2.  जिस भी व्यक्ति को शराब का ठेका चाहिए होता है ! वह उम्मीदवार इस टेंडर में हिस्सा लेते हैं
  3.  आबकारी विभाग द्वारा कुछ नागरिक जैसे शहीद सैनिक परिवार, स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों को इसमें प्राथमिकता भी दी जाती है !
  4.  आबकारी विभाग द्वारा लाइसेंस भी प्रदान किया जाता है !
  5.  इसके लिए आपकी उम्र 21  वर्ष से अधिक होनी चाहिए ! यह उम्र हर किसी राज्य में भिन्न भी हो सकती है किसी किसी राज्य में लाइसेंस प्राप्त करने की उम्र 18 वर्ष भी निर्धारित की गई है !
  6.  अगर आप की उम्र 18 वर्ष से कम है ! तो आपको शराब के ठेके का लाइसेंस प्रदान नहीं किया जाएगा

उत्तर प्रदेश में शराब ठेका लेने के लिए  दस्तावेज 

उत्तर प्रदेश में शराब ठेका खोलने के लिए निम्न दस्तावेजों का होना आवश्यक है ! इन दस्तावेजों की जांच आबकारी विभाग द्वारा की जाती है !  इनके आधार पर आपको शराब के ठेके का लाइसेंस प्रदान किया जाता है ! कौन-कौन से दस्तावेज होने चाहिए वह इस प्रकार है

  1. ठेका लेने के लिए आपके पास हैसियत प्रमाण पत्र भी होना चाहिए
  2.  पासपोर्ट साइज फोटो
  3.  पैन कार्ड 
  4.  आधार कार्ड होना चाहिए
  5. चरित्र प्रमाण पत्र
  6.  अनुभव प्रमाण पत्र

विश्व में सबसे अच्छी शराब कौन  से देश की है

 विश्व में सबसे अच्छी शराब की बात करें ! तो सबसे अच्छी शराब के मामले में फ्रांस  दुनिया का सबसे बड़ा शराब ब्रांड वाला देश है ! दुनिया में सबसे ज्यादा शराब उत्पादित राज की बात करें तो इटली देश का नाम प्रथम स्थान पर आता है ! कई शराब प्रेमी प्रेमियों के लिए फ्रांस  देश सबसे अच्छा देश माना जाता है !

Help In Hindi Telegram channel
Help In Hindi Telegram channel

शराब ठेके कितने प्रकार के होते हैं

 शराब ठेकों की बात करें तो एक ठेका जिसे हम देसी शराब ठेका के नाम से जानते हैं ! और एक ठेका जिसे अंग्रेजी शराब ठेके के नाम से जाना जाता है ! आमतौर पर इन्हीं दोनों ठेकों को आम लोग जानते हैं ! लेकिन आबकारी विभाग द्वारा इन ठेकों को भी दो प्रकार से विभाजित किया गया ! 1. ऑनसाइट लाइसेंस २. ऑफ साइट लाइसेंस

 ऑनसाइट लाइसेंस का मतलब यह होता है ! कि यह एक परिसर  के अंदर ही शराब की बिक्री एवं पिलाने का  कार्य एक दायरे के अंदर होता है ! इसके उदाहरण जैसे बार, होटल, पब आदि हैं 1

 ऑफसाइड लाइसेंस का मतलब यह होता है ! कि जैसे शराब की दुकान से लोग शराब ले जाकर कहीं भी शराब पी सकते हैं ! तभी तो शराब के लाइसेंस देने देते समय आपकारी विभाग यह भी ध्यान में रखता है ! कि  कस्बों और गांवों से काफी दूरी पर होनी चाहिए

ठेके खोलने के नियम एवं शर्तें

ठेका खोलने के कुछ नियम व शर्तें भी निर्धारित की गई है ! यह नियम और शर्त आबकारी विभाग द्वारा निर्धारित किया जाता है !

  1.  जैसे कि किसी भी शिक्षण संस्थान से ठेका खोलने के लिए एक निश्चित दूरी तय की जाती है
  2. ठेका मालिकों को शांति बनाए रखने के लिए भी कहां जाता हैहै
  3. गांव एवं कस्बों से ठेका लगभग 1 किलोमीटर की दूरी पर होना चाहिए
  4. सभी प्रदेश में शराब के ठेकों की संख्या लगभग 30 से 50 हजार ही होनी चाहिए
  5. उत्तर प्रदेश में शराब की दुकान लेने के लिए खाद्य विकास विभाग से लाइसेंस लेना अनिवार्य कर दिया गया है
  6.  दुकानदारों को बिक्री के अनुसार टैक्स भी देना होगा !
  7.  बिना लाइसेंस के आप शराब की दुकान नहीं खोल सकते पकड़े जाने पर जुर्माने का प्रावधान किया गया

उत्तर प्रदेश में शराब की दुकान का लाइसेंस लेना  हुआ महंगा

प्राप्त सूचना के अनुसार उत्तर प्रदेश में 1 अप्रैल से शराब की दुकानों का लाइसेंस शुल्क में 7.5 फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी का फैसला लिया गया है ! इससे उत्तर प्रदेश की राजस्व को  काफी लाभ प्राप्त होगा ! शराब पर सरकार के राजस्व की बात करें तो सबसे ज्यादा टैक्स शराब पर ही लिया जाता है ! इससे राज्य या  देश को काफी राजस्व प्राप्त होता है !

जैसा कि आपने देखा ही होगा कोरोना का हाल में भी सभी दुकाने बंद होने पर राज्यों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था !  एक गाइडलाइन के अनुसार सरकारों ने अपने-अपने राज्यों में ठेकों को खोलने का फैसला किया ! जिससे उन्हें कुछ राजस्व प्राप्त हो सके !

शराब पीने का लाइसेंस कैसे बनवाएं

सभी राज्यों में लोग यह तो जानते हैं की शराब का ठेका लेने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती है ! मगर पीने के लिए किसी भी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है ! अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो आप गलत हैं ! शराब पीने का भी लाइसेंस बनता है ! इसके लिए ऑनलाइन फॉर्म भरकर नॉमिनल फीस अदा करनी होती है  ! 

देसी शराब पीने के लिए आपको ₹2 अदा करने पड़ते हैं और अंग्रेजी शराब पीने के लिए आपको ₹5 अदा करने पड़ते हैं ! यह रुपए आपके  क्रेडिट कार्ड से या किसी भी माध्यम से अदा कर सकते हैं ! अगर आप रोज ऐसा नहीं कर पाते हैं ! तो इसके लिए 1 साल के लिए ₹100 का भुगतान करने पर आपको लाइसेंस प्राप्त हो जाएगा 

शराब की दुकान का नाम ठेका कैसे पड़ा

 आप सब ने अक्सर देखा होगा कि शराब की दुकान पर देसी शराब का ठेका या अंग्रेजी शराब का ठेका लिखा होता है ! इसके पीछे भी एक कारण है ! शराब की दुकान जो भी व्यक्ति चलाता है ! अगर उसके नाम से यह ठेका चलाया जाए तो समाज में इसका बुरा प्रभाव पड़ता है ! इस वजह से ठेकेदार अपना नाम छुपा कर रखते हैं जिससे लोगों ने इसका नाम  ठेका रख दिया ! शराब की दुकान  अगर वह देसी शराब का ठेका है या अंग्रेजी शराब का ठेका तो उसके नीचे लाइसेंस नंबर और वैधता भी लिखी होती है !

Facebook Page Click Here
Telegram Channel Click Here
Whats’app Group Click Here
Instagram Click Here
Youtube Channel Click Here
Twitter Click Here

Leave a Comment